RBI cuts repo rate by 0.75%, All loans related to this will be cheap

repo rate was cut by 0.75%, down 5.15% to 4.4%; All types of loans will be cheap

RBI Governor Shaktikanta Das held a press conference on Friday amid the Coronavirus crisis. He announced a 0.75% reduction in the repo rate repo rate.

Hence the repo rate has now come down from 5.15% to 4.4%. This will make all types of loans cheaper. 4 out of 6 members of the Monetary Policy Committee voted in favor of the rate cut. Due to Kovid-19, worldwide economic activity has been affected. The effect of Kovid-19 will not be known. However, lower crude prices will provide some relief.

21 day lockdown is going on in the country

The government also announced a relief package of Rs 1.70 lakh crore on Thursday. In this, relief was announced to the poor, farmers, laborers, women, elderly, widows and the disabled. A 21-day lockdown is going on in the country due to coronavirus. This is affecting the economy and life.

नई दिल्ली: कोरोनावायरस तथा उससे पैदा होने वाली बीमारी COVID-19 के आतंक के बीच भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट में 75 आधार अंकों की कटौती कर दी है, और इसे 4.4 फीसदी पर ले आए हैं. माना जा रहा है कि अगर बैंक भी इसका लाभ ग्राहकों तक पहुंचाते हैं, तो होम लोन तथा अन्य ऋणों पर ब्याज दरें कम हो सकती हैं, जिससे आम आदमी को राहत मिलेगी. रेपो रेट के अलावा RBI ने रिवर्स रेपो रेट में भी 90 आधार अंक की कटौती की है, जो अब चार फीसदी पर पहुंच गया है.

बता दें, भारत में कोरोना वायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 17 हो गई और संक्रमित मामले 724 पर पहुंच गए. स्वास्थ्य मंत्रालय ने सुबह नौ बजकर 15 मिनट पर अपने ताजा आंकड़ों में बताया कि महाराष्ट्र में चार लोगों की मौत हो गई जबकि गुजरात में तीन लोगों की मौत हुई है. कर्नाटक में अभी तक दो लोग जान गंवा चुके हैं जबकि मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में एक-एक शख्स की मौत हुई.

लॉकडाउन के बीच देश की इकोनॉमी को बूस्ट देने के लिए सरकार की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. इसी के तहत रिजर्व बैंक ने उम्मीद के मुताबिक रेपो रेट में 75 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है. इस कटौती के बाद रेपो रेट 5.15 से घटकर 4.40 फीसदी पर आ गई है. रेपो रेट की यह कटौती आरबीआई इतिहास की सबसे बड़ी है.बता दें कि बीते दो मौद्रिक समीक्षा बैठक में आरबीआई ने रेपो रेट को लेकर कोई फैसला नहीं लिया था. इसके साथ ही आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट में भी 90 बेसिस प्वाइंट कटौती करते हुए 4 फीसदी कर दी है.

रेपो रेट कटौती का फायदा होम, कार या अन्य तरह के लोन सहित कई तरह के ईएमआई भरने वाले करोड़ों लोगों को मिलने की उम्मीद है.